Home » National » तेजस्‍वी बोले, नीतीश के कहने से नहीं पार्टी के कहने पर दूंगा इस्‍तीफा

तेजस्‍वी बोले, नीतीश के कहने से नहीं पार्टी के कहने पर दूंगा इस्‍तीफा

[ad_1]

Speaking tejaswi, Not by the words of Nitish Will resign on party's say

तेजस्‍वी बोले, नीतीश के कहने से नहीं पार्टी के कहने पर दूंगा इस्‍तीफा

एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में बिहार के उप मुख्‍यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि वह मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के कहने से नहीं पार्टी के कहने पर पद से इस्‍तीफा देंगे।
जब तेजस्वी से यह पूछा गया कि क्‍या नीतीश के कहने पर इस्‍तीफा देंगे तो उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी कहेगी तो इस्तीफा दूंगा. मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद नीतीश कुमार के साथ मुलाकात को उन्होंने सामान्‍य मुलाकात बताया.
तेजस्‍वी के बयान से साफ जाहिर है कि बिहार में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर जारी सियासी संकट अभी टला नहीं है. यही कारण है कि महागठबंधन में शामिल प्रमुख घटक दल जदयू और राजद के नेताओं की ओर से इस मामले पर सियासी बयानबाजी का सिलसिला लगातार जारी है. इससे पहले मंगलवार को नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बुलायी गयी बिहार कैबिनेट की बैठक में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल हुए. इतना ही नहीं बैठक के बाद तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से मुलाकात की और बंद कमरे में दोनों नेताओं के बीच करीब चालीस मिनट तक बातचीत भी हुई. जिसके बाद सूबे में सियासी अटकलें तेज हो गयी है. इन सबके बीच तेजस्वी यादव ने अपने इस्तीफे के मुद्दे पर आज एक बार फिर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि राजद विधायक दल ने उन्हें नेता चुना है और पार्टी जैसा कहेगी वे वैसा ही करेंगे.
उन्होंने कहा कि इस संबंध में मीडिया जिस तरह की खबरें चल रही है वैसा कुछ नहीं है. सीबीआई की ओर से दर्ज एफआईआर में नाम शामिल किये जाने पर उन्होंने कहा कि इस मसले पर वे जनता को सफाई देंगे. उन्‍होंने कहा कि मैं जनता के बीच जाऊंगा और सारी बात बताऊंगा.
कार्यालय नहीं जाने को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में तेजस्वी यादव ने कहा कि वे कैंप ऑफिस से ही फाइलें निपटा रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुझ पर हुए केस पर मीडिया से बात करता रहूंगा. इसका बिहार सरकार के कामकाज से इसका लेना-देना नहीं है. बता दें कि भ्रष्टाचार के आरोपों में फंसे तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर पिछले कई दिनों से राजद और जदयू के बीच जुबानी जंग चल रही है. तेजस्वी यादव तो यहां तक कह चुके हैं कि इस्तीफे की बात तो सिर्फ मीडिया की देन है.
गौरतलब है कि रेलवे की होटल लीज मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई की ओर से बीते दिनों लालू परिवार से जुड़े बारह ठिकानों पर छापे और एफआईआर के बाद तेजस्वी यादव मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद नीतीश कुमार से मिले. माना जा रहा था कि बंद कमरे में करीब चालीस मिनट तक चली इस बैठक में तेजस्वी ने खुद के ऊपर लगे आरोपों पर मुख्यमंत्री के सामने अपना पक्ष रखा. हालांकि बैठक में क्या निर्णय लिया गया, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की गयी है. सीबीआई की कार्यवाही के बाद नीतीश कुमार की तेजस्वी के साथ यह पहली बैठक थी.
-एजेंसी

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*