Home » National » बेगमपुरा टाइगर फोर्स ने भीम आर्मी के चीफ के खिलाफ यूपी सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने की जताई आशंका

बेगमपुरा टाइगर फोर्स ने भीम आर्मी के चीफ के खिलाफ यूपी सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने की जताई आशंका

कहा :-सहारनपुर जेल में बंद चंद्रशेखर रावण को जमानत ना लगाने के लिए दी जा रही हैं धमकियां

मंच पर आसीन फोर्स के पदाधिकारी

लुधियाना (सोनू अम्बेडकर), 17 सितंबर:- बेगमपुरा टाइगर फोर्स के मनुवादी सोच को लेकर चलने वाली उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा दलित एवं पिछड़े वर्ग के हितों की आवाज बुलंद करने के दोष में भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण को सहारनपुर की जेल की सलाखों के पीछे झूठे दोषों में बंद करने की कठोर शब्दो में आलोचना करते हुए उनकी आवाज दबाने के लिए उनके के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा एक्ट लगाने की तैयारियों की पोल खोली। भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण के साथ पिछले दिनों सहारनपुर जेल में मुलाकात कर वापस आए बेगमपुरा टाइगर फोर्स लुधियाना इकाई के अध्यक्ष श्री धर्मपाल, कानूनी सलाहकार अवतार महलन और सीनियर उपाध्यक्ष राकेश मूम शम्मी सहित अन्य नेताओं ने स्थानक सर्किट हाउस में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में बताया कि दलित एवं दबे कुचले समाज के हितैषी होने का खामियाजा मान्यवर चंद्रशेखर जी को जेल की सलाखों के पीछे अमानवीय सरकारी यातनाए झेल कर भुगतना पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार अपने एक विशेष समुदाय के वोट बैंक को पक्का करने के लिए भीम आर्मी के चीफ पर प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष तौर पर राष्ट्रीय सुरक्षा एक्ट की धाराएं लगाने के लिए एवं कोर्ट में जमानत की अर्जी ना लगाने के लिए मजबूर कर रही है। वहीं सरकारी अधिकारी उनको पिछड़े वर्ग पर हो रहे जबर जुल्म के खिलाफ आवाज बुलंद करने से तौबा करने और भीम आर्मी को भंग करने के लिए भी दबाव बना रहे हैं।
फोर्स के नेताओं ने केंद्र तथा उत्तर प्रदेश सरकार को दो टूक शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा की अगर चंद्रशेखर रावण पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया गया तो देश भर में दलित समाज हर वर्ग के साथ संबंधित समान विचारों वाले संगठनों को साथ लेकर इसका सख्त विरोध करेगा। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रियों, विधायकों सहित सत्ता पक्ष के केंद्रीय नेताओं का देश भर में बाईकाट कर म कानूनी तौर पर संविधान में मिले अधिकारों के उल्लंघन पर अदालत में अपना पक्ष भी रखेगा। इस मौके पर धर्मपाल, अवतार मलहन और सीनियर मीत प्रधान राकेश मुम सम्मी, देशराज चुंबर, माना जंसल, सती चुंबर, रविंदर रवि, देशराज कोहली, लखबीर मुम, गुरप्रीत राणा, भिंदा रतू, सुनील रतु, कृष्णलाल, डॉक्टर सुरेंद्र सहित और भी साथी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*