Home » Punjab » श्मशान घाट विवाद: बठिंडा में जातिवाद विवाद बढने की आशंका

श्मशान घाट विवाद: बठिंडा में जातिवाद विवाद बढने की आशंका

सरपंच पर ग्रांट के दुरुपयोग का आरोप

गांव के लोग दीवार दिखाते हुए

बठिंडा(सोनू अम्बेडकर), 26 सितंबर:- बठिंडा के गांव कोट गुरु में रामबाग की जमीन को लेकर गांव के रविदासीय समुदाय और सरपंच के बीच विवाद बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। रविदासीय समुदाय द्वारा गांव की सरपंच गुरविंदर कौर पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि गांव कोट गुरु में रामबाग श्मशान घाट 3 एकड़ में बना हुआ है, जिसमें से सरपंच ने एक दीवार निकाल कर अपने कब्जे में कर ली जोकि बहुत गलत है।

पत्रकारो से बात करते रविदासीय समाज के व्यक्ति

गांव वासियो ने कहा जो ग्रांट सरकार की तरफ से रामबाग श्मशान घाट की बाउंड्री के लिए आई थी, उसे सरपंच ने रामबाग के बीच नाजायज तौर पर इस्तेमाल कर दीवार खड़ी कर दी और हमें कहां जा रहा है कि वहां पर खेल का मैदान बनाया जाएगा, जो कि सरासर झूठ है। रविदासीय समुदाय से सम्बन्ध रखने वाले लोगो का कहना है कि हम साम्प्रदायिकता नहीं चाहते लेकिन सरपंच ने श्मशान की जमीन को दो हिस्सों में बाँट कर गलत किया है। उन्होंने यह शक भी जताया कि आने वाले समय में इस श्मशान घाट कि जमीन को भी बेचा जा सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि बी.डी.ओ. साब ने दीवार के बीच बनाया गया गेट हटवा दिया था लेकिन कुछ देर बाद वहां झाड़ियां आदि रख कर फिर से उस रास्ते को बंद कर दिया ।
लोगो ने ये भी बताया कि अलग अलग श्मशान घाट कि क्या जरुरत है क्यों नहीं, सारे इलाके की बॉउंड्री करके उसे बनाया जो सकता, जबकि इस काम के लिए सरकार ने ग्रांट भी दी थी जिसका सरपंच ने दुरूपयोग किया है। वहीँ इस समुदाय के मृतकों के संस्कार वाले स्थान पर पिछले कई वर्षो से शेड न डालने की बात भी सामने आयी है रविदासीय समुदाय के लोगो ने कहा है कि हमारा किसी से कोई झगड़ा नहीं है वो सब मिलजुल रहकर एक मिसाल बनाना चाहते है लेकिन इस प्रकार के कृत्य हमारे समाज में फूट डालने की कोशिश है जिसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे ।

विरोध प्रदर्शन करते रविदासीय समाज के लोग

वही उधर अपने ऊपर लगे आरोपों को सरपंच गुरविंदर कौर झूठा बताते हुए, बचती नजर आई उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है। हमने दीवार इसलिए करवाई है ताकि जो साथ लगते खेत है उन्हें किसी प्रकार आग का खतरा न रहे और किसी प्रकार की गंदगी ना फैले। जो कि हकीकत से परे की बात लगती है क्यूंकि हमारे संवादाता के अनुसार वो जगह श्मशान घाट की ही है लेकिन दीवार बना कर उसे अलग कर लिया गया है ।
आप विधायक की बात भी नहीं हुई हजम
वहीं दूसरी ओर बठिंडा देहाती की विधायक रुपिंदर रुबी ने कहा की हमारे पास पहले भी शिकायत आई थी जिसके चलते हमने अफसरों को साथ लेकर जांच की थी लेकिन वहां कोई दीवार नहीं थी। जिसके बाद हमें गांव वासियों के शिकायत को लेकर कई फोन भी आए। जब हमारे संवादाता ने उनसे कहा कि दीवार अब भी मौजूद है तो पहले तो उन्होंने इसे नकार दिया, लेकिन हमने जब तथ्यों की बात की तब उन्होंने कहा कि अगर ऐसी कोई भी बात है तो हमारे द्वारा दोबारा उस जगह का जायजा लिया जाएगा और अगर कुछ भी गलत हुआ तो सख्त कारवाई की जायगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*