Home » National » साध्वी यौन शोषण के दोनों मामलों में बाबा राम रहीम को अलग-अलग 10-10 साल की सजा

साध्वी यौन शोषण के दोनों मामलों में बाबा राम रहीम को अलग-अलग 10-10 साल की सजा


28 अगस्त, (गुरबिंदर सिंह):- आज रोहतक जेल में बनाई गयी स्पेशल सीबीआई की विशेष अदालत के जज जगदीप सिंह ने साध्वी यौन शोषण मामले में सिरसा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को आज 20 साल की सजा सुनाई और 30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। गौरतलब है कि पंचकुला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम को रेप केस में दोषी कऱार दिया था। जिसके बाद पंचकूला, सिरसा और डेरा प्रभाव वाले क्षेत्रो में काफी हिंसा भड़क गयी थी कई लोग मरे गए थे तथा सैंकड़ो लोग घायल हो गए थे जिसके के बाद पंजाब और हरियाणा के कई जिलों में कर्फ्यू लगाना पड़ा था।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को न्यायालय द्वारा बलात्कार के मामले में आरोपी साबित किए जाने के बाद लगे कर्फ्यू व अराजकता के कारण सरकारी व निजी संस्थानों को 500 करोड़ से अधिक के नुक्सान की आशंका व्यक्त की जा रही है।

इससे पहले सजा की अवधि को लेकर भ्रम की स्थिति बनी रही। पहले यह खबर आई थी कि राम रहीम को 10 साल की सजा और 65 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है, लेकिन बाद में सीबीआई ने नई दिल्ली में स्थिति स्पष्ट की, कि बचाव और अभियोजन पक्ष के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद न्यायाधीश ने राम रहीम को बलात्कार के दो मामलों में दस दस साल के जेल की सजा, अलग-अलग सजा सुनाई गई है। पचास वर्षीय राम रहीम को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (बलात्कार), 506 (डराने-धमकाने) और 509 (महिला की इज्जत से खिलवाड़) के तहत दोषी पाया गया है।

क्या था मामला ?
यौन शोषण का शिकार हुई एक साध्वी ने 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को गुमनाम पत्र लिखकर शिकायत की थी। जिस पत्र पर संज्ञान लेते हुए सितम्बर 2002 को मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। सीबीआई ने जांच में उक्त तथ्यों को सही पाया और डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह के खिलाफ विशेष अदालत के समक्ष 31 जुलाई 2007 में आरोप पत्र दाखिल कर दिया। डेरा प्रमुख को उक्त मामले में अदालत से जमानत तो मिल गई लेकिन पिछले लंबे समय से मामला पंचकूला की सीबीआई अदालत में चल रहा था। जिस पर 17 अगस्त को अंतिम बहस होने के बाद बाबा गुरमीत राम रहीम को 25 अगस्त को दोषी करार कर दिया गया था और आज सीबीआई अदालत ने 10 साल की कैद की सजा सुनाई है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*