Home » Lifestyle » Health » नारियल का तेल दिल की बीमारी का खतरा कम कर सकता है, अध्ययन का कहना है

नारियल का तेल दिल की बीमारी का खतरा कम कर सकता है, अध्ययन का कहना है

हाल के एक अध्ययन के मुताबिक, सिर्फ चार हफ्तों तक नारियल के तेल की खपत में हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा कम हो सकता है।

हाल के एक अध्ययन के मुताबिक, सिर्फ चार हफ्तों तक नारियल के तेल की खपत में हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा कम हो सकता है।

शोधकर्ताओं के-ते खाव और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से प्रोफेसर नीता फोरोही ने 50 से 75 वर्ष की आयु के बीच 94 स्वयंसेवकों पर अध्ययन किया, जिनमें से कोई भी हृदय रोग या मधुमेह का इतिहास नहीं था, स्वतंत्र रिपोर्ट के अनुसार

उन्होंने प्रतिभागियों को तीन समूहों में विभाजित किया और उनमें से प्रत्येक को चार ग्राम या चार नम्बर के नारियल के तेल, अतिरिक्त कुंवारी जैतून का तेल या अनसाल्टेड मक्खन के लगभग हर रोज़ का सेवन करने के लिए कहा गया। वे यह विश्लेषण करना चाहते थे कि इन वसा खाने से नियमित रूप से स्वयंसेवकों के कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर असर पड़ेगा।

निष्कर्षों ने संकेत दिया कि प्रतिभागियों ने मक्खन का सेवन करने वाले एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 10% की औसत वृद्धि देखी, जिसे “खराब कोलेस्ट्रॉल” कहा जाता है। जिन लोगों ने जैतून का सेवन किया उन्हें एलडीएल के स्तर में थोड़ी सी कमी हुई और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिसे अक्सर ‘अच्छा कोलेस्ट्रॉल’ कहा जाता है।

इस बीच, प्रतिभागियों ने नारियल तेल खाकर एचडीएल के स्तर में सबसे ज्यादा 15% की औसत वृद्धि देखी। “मुझे लगता है कि विशेष तेल खाने के फैसले सिर्फ स्वास्थ्य प्रभावों से ज्यादा पर निर्भर करता है,” शोधकर्ताओं ने कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*