Home » National » hisar masjid namazi beating video viral bajrang dal worker arrest

hisar masjid namazi beating video viral bajrang dal worker arrest

[ad_1]

हरियाणा के हिसार में मस्जिद के बाहर हंगामा करने और एक नमाजी को थप्पड़ मारने वाले बजरंग दल के कार्यकर्ता को आखिरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर ही लिया. उसकी पहचान घटना के वायरल वीडियो से हुई थी. इसके अलावा पुलिस ने करीब सवा सौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

मामला बीती 11 जुलाई का था. हिसार में बड़ी संख्या में बजरंग दल के कार्यकर्ता अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का विरोध करने के लिए जमा हुए थे. पहले उन्होंने आतंकवाद का पुतला जलाया और फिर वे लाहौरिया चौराहे पर मस्जिद के बाहर जा पहुंचे और नारेबाजी करने लगे.

जो वीडियो वायरल हुआ उसमें साफ दिख रहा है कि भीड़ ने मस्जिद के बाहर पुतला जलाया और नारेबाजी की. शोर सुनकर हारुन नामक शख्स मस्जिद से बाहर आया, जो सहारनपुर से वहां आम बेचने आया था. भीड़ ने उसके साथ शर्मसार कर देने वाली हरकत की. उसे जबरन भारत माता की जय बोलने के लिए कहा. यहां तक भीड़ में शामिल बजरंग दल के एक कार्यकर्ता ने हारुन को बेवजह थप्पड़ भी मार दिया.

मस्जिद के अंदर जो लोग थे, वे डर कर बाहर नहीं निकले. घटना के वक्त मस्जिद में मौजूद रमेश खान ने बताया कि इस गुंडागर्दी की शिकायत पुलिस से की गई. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने इलाके को खाली करवाया. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी अनिल को गिरफ्तार कर लिया है. मस्जिद के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

पीड़ित पक्ष का कहना है कि प्लान के तहत हमला किया. उन्हें भारत माता की जय बोलने से कोई ऐतराज नहीं. भारत हमारी मां है. लेकिन क्या ये हमें देशभक्ति सिखाएंगे. देश की आजादी में मुसलमानों ने लड़ाई लड़ी. हम इस हमले की भी निंदा करते हैं. आतंकवाद की भी निंदा करते हैं. भले वो किसी भी मजहब के हों.

पुलिस ने इस मामले में 100-125 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. अनिल नामक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. उसी ने मस्जिद के बाहर हारुन को चांटा मारा था. उसकी पहचान वायरल वीडियो से हुई है.

हिसार के डीएसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि एक आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है. बाकी की पहचान की जा रही है. 100 से 125 लोगों की भीड़ थी. उन्होंने मस्जिद के बाहर पुतला फूंका. उसी में से कुछ अंदर घुस गए और लोगों को बाहर निकालकर मार-पीट करने लगे. गिरफ्तार शख्स का बजरंग दल या किसी पार्टी का है, इस बारे में अब तक कोई सबूत नहीं मिला है.

डीएसपी ने बताया कि भीड़ में से कोई किसी दल का हो, इसका भी सबूत नहीं मिला है. जांच जारी है. हमने सुरक्षा बढ़ा दी है. इतनी बड़ी संख्या में भीड़ जुटी और पुलिस को पता नहीं चला. लोकल इंटेलिजेंस फेलियर के सवाल पर डीएसपी ने कहा कि घटना अचानक हुई. भीड़ में असामाजिक तत्व शामिल थे.

 

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*