Home » National » us navy strike group towards korean peninsula moves north korea kim jong un

us navy strike group towards korean peninsula moves north korea kim jong un

[ad_1]

नॉर्थ कोरिया और अमेरिका के बीच आने वाले दिनों में हालात और बिगड़ सकते हैं. अमेरिका ने उत्तर कोरिया की परमाणु महत्वाकांक्षाओं के खिलाफ अपनी रक्षात्मक तैयारी को बढ़ाते हुए अमेरिकी नौसैन्य वाहक मारक समूह को कोरियाई प्रायद्वीप की ओर रवाना कर दिया है. बता दें कि आए दिन नॉर्थ कोरिया अपने तानाशाह किम जोंग उन के निर्देश पर सैटेलाइट, मिसाइल और परमाणु बम का परीक्षण करते रहा है.

ऐहतियातन कदम उठा रहा है अमेरिका
अमेरिकी प्रशांत कमान के प्रवक्ता कमांडर डी बेनहाम ने बताया, अमेरिकी प्रशांत कमान ने ऐहतिहातन कदम उठाते हुए कार्ल विनसन मारक समूह उत्तर को आदेश दिए कि वह पश्चिमी प्रशांत में अपनी तैयारी और मौजूदगी बनाकर रखें.

नॉर्थ कोरिया को क्यों खतरा मान रहा है अमेरिका?

बेनहाम ने एक न्यूज एजेंसी को बताया- अपने मिसाइल परीक्षणों के धृष्ट, लापरवाह और अस्थिरताकारी कार्यक्रमों और परमाणु हथियारों की क्षमता हासिल करने के पीछे पड़े होने के कारण उत्तर कोरिया क्षेत्र में सबसे पहला खतरा बना हुआ है. इस मारक समूह में निमित्ज श्रेणी का विमान वाहक यूएसएस कार्ल विनसन, एक कैरियर एयर विंग, दो लक्षित मिसाइल

विध्वंसक और एक लक्षित मिसाइल क्रूजर शामिल हैं. इस समूह को असल में ऑस्ट्रेलिया जाना था लेकिन वह इसके बजाय सिंगापुर से पश्चिमी प्रशांत महासागर में चला गया.

छठे परमाणु परीक्षण की तैयारी कर रहा है नॉर्थ कोरिया

उत्तर कोरिया पांच परमाणु परीक्षण कर चुका है. इनमें से दो परीक्षण पिछले साल हुए थे. उपग्रहों से प्राप्त विशिष्ट तस्वीरों का विश्लेषण कहता है कि उत्तर कोरिया संभवत: छठे परीक्षण की तैयारी कर रहा है.

नॉर्थ कोरिया अमेरिका के लिए कैसे खतरा?

नॉर्थ कोरिया अमेरिका को लगातार चुनौती देता रहा है. ओबामा के बाद ट्रंप प्रशासन में भी किम जोंग उन ने हथियारों के विस्तार कार्यक्रम को बंद नहीं किया है. पिछले साल जनवरी में नॉर्थ कोरिया ने हाइड्रोजन बम का टेस्ट किया था. ट्रंप की चेतावनी के बाद भी नॉर्थ कोरिया हथियारों के विस्तार कार्यक्रम से पीछे नहीं हट रहा है. साउथ कोरिया, अमेरिका और जापान जैसे देश इसे लेकर कई बार यूएन में शिकायत कर चुके हैं. इस साल उत्तर कोरिया ने पांच परमाणु और एक मिसाइल सीरीज के परीक्षण की शुरूआत की.

चीन से नहीं मिली मदद, तो नॉर्थ कोरिया से अकेले निपटेगा US: ट्रंप

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*